मोदी सरकार ने स्टॉक मार्केट (Stock Market) में यह कहकर धमाका मचा दिया कि ‘पब्लिक सेक्टर की सभी गैर रणनीतिक कंपनियों को प्राइवेटाइज’ किया जाएगा. सीधे शब्दों में कहें तो सरकार ने पब्लिक सेक्टर की करीब 300 कंपनियों को बेचने का वादा किया है. लेकिन सब कुछ इतना आसान नहीं, जितना दिखता है. पिछले सात सालों में मोदी सरकार एक भी पब्लिक सेक्टर कंपनी (Public Sector Undertaking) को बेच नहीं पाई है, क्योंकि निजीकरण (Privatization) की इस पूरी प्रक्रिया में कई बड़ी कमियां हैं. लेकिन निजीकरण का एक ऐसा रास्ता भी है जिनमें खतरनाक खाइयां नहीं हैं.
#Budget2021 #ModiGovernment #Privatization

क्विंट हिंदी की स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए. हमारे मेंबर बनिए: https://bit.ly/2mE6B8P

आपके लिए जरूरी हर खबर क्विंट पर: https://hindi.thequint.com

द क्विंट इंग्लिश में: https://www.thequint.com

आपको बेहतरीन वीडियो मिलेंगे हमारे यू-ट्यूब चैनल पर: https://bit.ly/2x6pGVD
आप क्विंट हिंदी को यहां भी फॉलो कर सकते हैं:

फेसबुक:https://bit.ly/2LJfzLy

ट्विटर: https://bit.ly/2nhoAlL

इंस्टाग्राम:https://bit.ly/2NGHzRK

Add comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *