2021 में अगर मोदी सरकार की ऐसी ही नीतियाँ चलती रहीं तो बड़े कॉर्पोरेट को होगा फ़ायदा और बाकी सभी को आर्थिक नुकसान। चाहे वो किसान हो, मजदूर या मिडिल-क्लास। ऐसे में अगर आप अपनी आवाज़ बुलंद नहीं करेंगे तो आपकी कोई सुनने वाला नहीं होगा।

Add comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *