दो लोगों के बीच लड़ाई होती है, तो अक्सर बीच बचाव की कोशिश एक ऐसे तीसरे दोस्त को करनी होती है, जो दोनों का अच्छा दोस्त रहा हो. भारत-चीन तनाव के बीच में रूस भी ऐसा ही दोस्त साबित होगा, इस पर चर्चा शुरू हो गई है. भारत और चीन के बीच फ़िलहाल सीमा पर तनाव है. जून में गलवान घाटी में था. फ़िलहाल पैंगोंग त्सो के दक्षिणी तट पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच तनाव बना हुआ है. ऐसे में कुछ भारतीय मीडिया चैनलों में रिपोर्ट है कि चीन के रक्षा मंत्री वेई फ़ेंघे ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से बातचीत का समय माँगा है. राजनाथ सिंह इस समय शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में हिस्सा लेने के लिए मॉस्को में हैं. एससीओ में विदेश मंत्रियों की बैठक में भी भारत-चीन के विदेश मंत्रियों के बीच बातचीत हो सकती है, इसकी भी सुगबुगाहट तेज़ है. पिछले तीन महीने में ये दूसरा मौक़ा है जब भारत के रक्षा मंत्री रूस गए हैं. इससे पहले जून में भी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तीन दिवसीय रूस यात्रा पर थे. मौक़ा था दूसरे विश्व युद्ध में नाज़ी जर्मनी पर सोवियत विजय की 75वीं वर्षगांठ का. उस वक़्त भी दोनों देशों के प्रतिनिधियों के मिलने की बात हुई थी. लेकिन बातचीत नहीं हुई. ये महज़ संयोग हो सकता है कि जब जब राजनाथ सिंह रूस जाते हैं, बातचीत की परिस्थितियाँ बनती नज़र आती हैं. कोरोना के दौर में जब तमाम मंत्री बहुत कम विदेश यात्रा कर रहे हैं, तब भी तीन महीने में भारत के रक्षा मंत्री दो बार रूस ही गए, ये भी संयोग हो सकता है. क्या इन दोनों संयोग के बीच ऐसा प्रयोग हो सकता है कि रूस दोनों देशों के तनाव को कम करने में कोई भूमिका निभाए? इस सवाल के जवाब के लिए पिछले कुछ दशकों के इतिहास को टटोलने की ज़रूरत होगी.

स्टोरी: सरोज सिंह
आवाज़: भरत शर्मा

#IndiaChina #Russia #Putin #Ladakh #PangongTso #SpecialFrontierForce

Corona Virus से जुड़े और दिलचस्प वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें : https://www.youtube.com/watch?v=npgvIvfmNkE&list=PLYxuvEJLss6ByutcqkthikPxV3ccUkwPB

कोरोना वायरस से जुड़ी सारी प्रामाणिक ख़बरें पढ़ने के लिए क्लिक करें : https://www.bbc.com/hindi/international-51848794

ऐसे ही और दिलचस्प वीडियो देखने के लिए चैनल सब्सक्राइब ज़रूर करें-
https://www.youtube.com/channel/UCN7B-QD0Qgn2boVH5Q0pOWg?disable_polymer=true

बीबीसी हिंदी से आप इन सोशल मीडिया चैनल्स पर भी जुड़ सकते हैं-

फ़ेसबुक- https://www.facebook.com/BBCnewsHindi
ट्विटर- https://twitter.com/BBCHindi
इंस्टाग्राम- https://www.instagram.com/bbchindi/

बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें- https://play.google.com/store/apps/details?id=uk.co.bbc.hindi

Add comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *